आमजन को सन्देश

brambedkar

ब्लड डोनर्स सोसायटी, बाड़मेर सीमांत जिलें मे रक्तदान जागरुकता हेतु प्रयासरत है। सोसायटी के संस्थापक श्रीमान भीमराज कड़ेला का सपना रहा है कि रक्त की कमी की वजह से किसी व्यक्ति की जान ना जायें, इस हेतु हम प्रयत्नयशील रहे। विभिन्न रक्तदान जागरुकता कार्यक्रम, रक्तदान शिविर, रक्तदाता सम्मान समारोह, रक्तदान विषय पर प्रतियोगिताएं आदि भिन्न-भिन्न प्रकार से इस विषय को गति मिली है।


कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन । 
मा कर्मफलहेतुर्भुर्मा ते संगोऽस्त्वकर्मणि ॥ 

श्रीमान जी का मानना है कि मानव जीवन अति दुर्लभ है। हजारों जन्मों के किये पुरुषार्थ के बाद मानवदेह उपलब्ध होती है। इस देह को जनकल्याणकारी कार्यों में लगाया जाए ताकि मानव जीवन के मुख्य उद्देश्य परम तत्व परमेश्वर की प्राप्ति को पाया जा सके। निष्काम कर्मयोग के सिद्दांत पर चलते हुए प्रत्येक मानव को प्राणीमात्र की सेवा में तत्पर रहना चाहिए।


किसी के बच्चे अनाथ होने से बचे, किसी सुहागिन का सिंदूर ना उजड़े, बूढ़े माँ बाप का इकलौता सहारा ना बिछड़े इसलिए जीवन के विपत्ति भरे दुःखदायी समय मे समुन्द्र से एक लोटा भर मात्र रक्त देकर किसी की मदद करनी चाहिए। विश्व कल्याण की भावना लिए भारतीय संस्कुति के मूल आदर्श वाक्य "सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे सन्तु निरामया" को सार्थक करते हुए आओं मिलकर एक स्वस्थ भारत का निर्माण करे, जीवनदायी रक्त का दान करे।